[Form] बिहार मुख्यमंत्री बाल सहायता योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन – Bal Sahayata Yojana 2022

Bihar Mukhyamantri Bal Sahayata Yojana 2022 Form Apply, Documents, Edibility, Website : आज इस लेख के माध्यम से हैं इन्ही सब बातों के बारे में आपको बताएंगे। अगर आपको यह लेख पसंद आये तो कृपया share जरूर करें।

हम जानते हैं कि कोरोना माहमारी के दौरान काफी व्यक्तियों का कारोबार नष्ट हो गया लोगों ने अपनों को खो दिया बच्चे अनाथ हो गए। सभी को कुछ ना कुछ खोना पड़ा। बच्चे देश का भविष्य हैं…अनाथ हो जाने के कारण इनकी आर्थिक स्थिति एवं मनो स्थिति काफी कमजोर हो चुकी थी। इन्हीं सब बातों को मद्देनजर रखते हुए बिहार सरकार के द्वारा बिहार राज्य के अनाथ बच्चों के लिए बाल सहायता योजना (Bal Sahayata Yojana 2022) की शुरुआत की गई।

इस योजना की शुरुआत 30 मई 2021 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा किया गया था। इस योजना के अंतर्गत कोरोनावायरस के दौरान देहांत हुए उन अभिभावक के बच्चों को आर्थिक एवं आवासीय सहायता प्रदान की जाएगी यह 18 वर्ष या 18 वर्ष से कम के बच्चों के लिए है। इस योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाया जाएगा।

Bihar Mukhyamantri Bal Sahayata Yojana 2022

मित्रों दुनिया के काफी सारे लोगों ने कोरोना महामारी के कारण अपने लोगों को खोया है। कभी बच्चे अनाथ हो गए। इन्हीं सब स्थिति को देखकर हमारे देश में केंद्र सरकार व राज्य सरकार ने अपने अपने तरफ से कई योजनाओं की घोषणा की है। जिनके अंतर्गत वे सभी लोगों को सरकार की तरफ से आर्थिक, समाजिक एवम अन्य सहायता प्रदान की जा रही है। ऐसे ही एक योजना की शुरुआत बिहार सरकार द्वारा भी की गई है इस योजना का नाम है Bihar Bal Sahayata Yojana.

इस योजना के अंतर्गत जिन बच्चों का माता या पिता कि मृत्यु कोरोना महामारी के दौरान हुई है। उन सभी बच्चों को बिहार सरकार की तरफ से पंद्रह ₹1500 प्रति महीने की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। अगर आप इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो सबसे पहले इस योजना के बारे में कुछ जरूरी बातें जान लेना अति आवश्यक है। जैसे कि यह सहायता राशि उन्हीं को प्रदान की जाएगी। जिनका उम्र 18 वर्ष से कम है सरकार ₹1500 प्रति महीने उन बच्चों को उनके 18 वर्ष होने तक प्रदान करेगी।

Bihar Bal Sahayata Yojana 2022

मुख्यमंत्री बाल सहायता योजना की घोषणा नीतीश कुमार के द्वारा ट्वीट करके दिया गया था। दरअसल इस योजना की शुरुआत 30 मई 2021 को की गई थी। इस योजना के माध्यम से बिहार सरकार उन सभी बच्चों जिनके माता-पिता या फिर माता-पिता में से कोई एक का देहांत कोरोना महामारी के दौरान हो गया था। उन्हें प्रतिमाह पंद्रह सौ रूपये की सहायता राशि प्रदान करेगी। 

यह सहायता राशि उनके 18 वर्ष होने तक सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी इतना ही नहीं अगर उन बच्चों के पास कोई आवास स्थल नहीं है तो उन बच्चों का देखभाल बाल गृह के माध्यम से किया जाएगा। अनाथ हुए बच्चियों के शिक्षा के लिए इन्हें कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में नामांकन भी दिया जाएगा जिसके कारण यह शिक्षा भी प्राप्त कर पाएंगे।

CM Nitish Kumar ने Tweet करके दी जानकारी –

यह भी पढ़ें: 

बिहार राज्य में कुल 55 बालगृह ग्री हैं प्रत्येक बालगृह में कम से कम 50 बच्चों की देखभाल की सहायता प्रदान की जा सकती है अगर हम कुल मिलाकर बात करें तो टोटल 250 बच्चों की देखभाल इन सभी बाल गिरी के माध्यम से की जाएगी। सरकार द्वारा प्राप्त इस योजना का लाभ उन्हें ही प्राप्त होगा जिन्होंने अपने अभिभावक को कोरोनावायरस के कारण खो दिया है एवं उनके पास कोई परिजन नहीं है।

Highlights Of Bihar Baal Sahayata Scheme 

बिहार मुख्यमंत्री बाल सहायता योजना का उद्देश्य

दरअसल Mukhyamantri Bal Sahayata Yojana का मुख्य उद्देश्य उन अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जिनके अभिभावक का देहांत कोरोनावायरस दौरान हो चुका है सरकार के द्वारा इन्हें पंद्रह सौ रुपये की सहायता राशि प्रति महीने प्रदान की जाएगी। जिससे इन्हें दूसरों पर आश्रित नहीं रहना पड़ेगा या खुद के भरण-पोषण के लिए सक्षम हो पाएंगे। जिन बच्चों का कोई आवास स्थान नहीं है। सरकार द्वारा उन्हें बाल गृह की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। जिसके माध्यम से उनका देखभाल किया जाएगा।

कोरोना महामारी के दौरान अनाथ हुए बच्चों के लिए कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय मैं उनका नामांकन भी करवाया जाएगा जिससे वह अपने शिक्षा को जारी रख सके। बिहार सरकार द्वारा प्राप्त इन लाभ से बच्चे आत्मनिर्भर और सशक्त बनेंगे उन्हें शिक्षा ग्रहण करने में भी कोई परेशानी नहीं आएगी जिससे वह प्रगति की ओर अग्रसर होंगे सरकार के द्वारा उठाया गया एक बेहतरीन कदम है।

Bihar Bal Sahayata Yojana Edibility : पात्रता

आइए जानते हैं की Bal Sahayata Yojana 2022 के आवेदन के लिए कौन-कौन सी पात्रता निर्धारित की गई है मैंने सभी पात्रता को निम्नांकित किया है।

  • आवेदक का बिहार राज्य का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आवेदन के माता-पिता या माता या पिता में से किन्हीं एक का देहांत कोरोना महामारी के दौरान हुआ हो।
  • आवेदन की आयु सीमा 18 वर्ष से कम इस 18 वर्ष होनी चाहिए।

Bihar Mukhyamantri Bal Sahayata Yojana 2022 के लिए कौन-कौन से दस्तावेज जरूरी हैं? 

  1. आवेदक का आधार कार्ड 
  2. आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  3. आवेदक आय प्रमाण पत्र
  4. राशन कार्ड
  5. माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र 
  6. पासपोर्ट साइज फोटो
  7. मोबाइल नंबर

बिहार मुख्यमंत्री बाल सहायता योजना के लिए आवेदन कैसे करें? – Bal Sahayata Yojana Bihar

दोस्तों अगर आप बाल सहायता योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो मैं इसके बारे में आपको सूचित कर दूं कि अभी सरकार के द्वारा केवल इस योजना की घोषणा की गई है। इस योजना के लिए आवेदन कैसे करें यह विभाग द्वारा नहीं बताई गई है। अभी विभाग द्वारा इसके official website की भी घोषणा नहीं की गई है। 

लेकिन जल्द ही संभावना जताई जा रही है कि bihar bal sahayata yojana के लिए आवेदन शुरू किया जाएगा अगर इस योजना से रिलेटेड कोई अपडेट आता है तो मैं लिख के माध्यम से अपने इस वेबसाइट पर शेयर करूंगा कृपया आप हमारे वेबसाइट के साथ जुड़े रहे।

Bal Sahayata Yojana के लाभ एवं विषेताएँ

  • इस योजना की शुरुआत बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार द्वारा 30 मई 2021 को गयी थी।
  • Bal Sahayata Yojana के अंतर्गत उन अनाथ बच्चों को 1500₹/माह दिया जाएगा जिनके माता-पिता या माता या पिता में से किन्ही एक का कोरो ना महामारी के दौरान देहांत हो गया।
  • अगर अनाथ बच्चे का कोई आवास स्थल नही है तो उन्हें bal sahayata yojana 2022 के अंतर्गत बाल गृह की सुविधा प्रदान की जाएगी। जहां उनका देखभाल किया जाएगा।
  • अनाथ हुई बालिकाओं के नामांकन कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में करवाया जाएगा।
  • बिहार बाल सहायता स्कीम का लाभ केवल उन बच्चों को मिलेगा जिनका उम्र 18 वर्ष से कम या 18 वर्ष है।
  • इस योजना के सहयोग से अनाथ बालक या बालिकाओं को किसी दूसरे पर आश्रित नही रहना पड़ेगा।
  • इस योजना के माध्यम से बच्चे आत्मनिर्भर व सशक्त बनेंगे।

निष्कर्ष: 

बाल सहायता योजना सरकार के द्वारा उठाया गया बहुत ही अच्छा कदम है। इससे अनाथ बच्चों के भविष्य को निखार आ जाएगा इन बच्चों को किसी दूसरे पर आश्रित नहीं रहना पड़ेगा। इन्हीं सरकार द्वारा आवास स्थल एवं आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। कोरोना माहमारी में हुई क्षति को देखते हुए केंद्र सरकार एवं राज्य सरकारों ने विभिन्न योजनाओं को आरंभ किया है। जिसके अंतर्गत नागरिकों के कल्याण के लिए कार्य किया जा रहा है। इन सभी योजनाओं के सहायता से नागरिकों को आर्थिक सामाजिक एवं अन्य प्रकार की सुविधा प्रदान की जा रही है।

बिहार सरकार द्वारा ने भी बच्चों के कल्याण के लिए Bihar Mukhyamantri Bal Sahayata Yojana 2022 की आरम्भ किया गया। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो आप इन्हें अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। ताकि उन्हें भी सरकार द्वारा संचालित बाल सहायता योजना के बारे में जान पाए। अगर कोई ऐसा व्यक्ति आपके संपर्क में है जो कि इस योजना का हकदार है तो कृपया उन्हें इस योजना के बारे में अवगत कराएं और उन्हें आवेदन करने में सहायता प्रदान करें।

Leave a Comment